New GST Registration in Hindi | जीएसटी रजिस्ट्रेशन कैसे करें

In India there are lot of the business person’s whose are running small shops or trading business but they need the knowledge about the GST Registration in Hindi with the Documents or Procedure or rules & regulations about GST Registration in the hindi language. so let’s learn in this guide all about GST Registration in Hindi.

GST Registration in Hindi

वस्तु एंव सेवा कर (Goods and Service Tax / GST) एक प्रकार का अप्रत्यक्ष कर जोकि वर्त्तमान में लगने वाले सभी अप्रत्यक्ष करों जैसेकि केंद्रीय उत्पाद शुल्क (Excise), सेवा कर (Service Tax), वैट (Vat), मनोरंजन, विलासिता, लॉटरी टैक्स आदि का एकीकृत रूप है।  GST देश के कर ढांचे में सुधार की तरफ बढ़ाया गया एक बहुत ही बड़ा कदम है।  अब पूरे देश में सभी प्रकार की वस्तुओं और सेवाओं पर एक ही प्रकार का और एक ही दर से कर लगेगा।  अब भारतवासियों को अलग अलग तरह का टैक्स नहीं भरना पड़ेगा।  GST पूरे देश के निर्माता, व्यापारियों और वस्तुओं और सेवाओं के उपभोगताओं पर लगेगा।  यह कर अन्य सभी राज्य और केंद्र सरकार द्वारा लगाए जाने वाले करों को हटा देगा। GST पूरी सप्लाई चैन पर एक ही दर से लगेगा। GST जुलाई 2017 से लागू होगा इसलिए आपके लिए यह अनिवार्य हो जाता है कि अगर आप VAT / CST या अन्य किसी प्रकार का कर भरते हैं तो आप अपना GST नामांकन जून महीने के अंत तक करवा लें। सभी नए उद्यमियों को भी GST नामांकन करवाना पड़ेगा अगर उनका कारोबार 20 लाख से ज्यादा है उत्तर पूर्वी राज्यों में यह सीमा 10 लाख है। आज मैं आपको इस लेख में GST के नामांकन का तरीका बताने जा रहा हूँ जिससे आपके लिए GST नामांकन आसान हो जायेगा।

GST पंजीकरण प्रक्रिया :

GST पोर्टल काफी हद तक यूजर फ्रेंडली है पर आपको आवेदन पत्र भरने और सभी  डॉक्युमेंट्स जमा करने के लिए प्रोफेशनल की जरुरत पड़ सकती है। आपको GST पंजीकरण के लिए निम्नलिखित स्टेप्स का पालन करना पड़ेगा –

  1. सबसे पहले GST पंजीकरण की ऑफिसियल वेबसाइट https://www.gst.gov.in/ को खोले।
  2. अब आपको पोर्टल पर लोग इन करना है और GST पंजीकरण फॉर्म -1 का अ भाग भर कर जमा कर दें।  
  3. फॉर्म जमा करने के बाद आपके मोबाइल और ईमेल पर रेफेरेंस नंबर भेजा जायेगा।  
  4. अब आपको पंजीकरण फॉर्म का दूसरा भाग भरना है और अपने वयवसाय से जुड़े हुए कुछ डाक्यूमेंट्स को जमा करना है।
  5. इन सब स्टेप्स का पालन करने के बाद भारत सरकार के द्वारा आपके लिए रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट जारी कर दिया जायेगा।  

Tip : If you want to register your GST Registration with the help of CA or CS or Legal Experts Online then just fillup below form and get the instant quote in your email id with the required documents.

GST पंजीकरण के लिए अनिवार्य डाक्यूमेंट्स –

1. अगर आपकी Sole Proprietorship Firm है तो आपको पैन कार्ड और प्रॉपराइटर का एड्रेस प्रूफ जमा करना पड़ेगा।

2. अगर आपकी पार्टनरशिप फर्म है तो

–  फर्म के पैन कार्ड के साथ पार्टनरशिप  डीड

–  पार्टनरशिप पंजीकरण सर्टिफिकेट और पार्टनर्स के ID प्रूफ और एड्रेस प्रूफ जमा करना पड़ेगा।  

3. प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के लिए

–  कंपनी का पैन कार्ड, COI, MOA और AOA

–  बोर्ड रेसोलुशन के साथ ही डायरेक्टर्स के ID प्रूफ और एड्रेस प्रूफ भी जमा करने पड़ेंगे।  

4. LLP या लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप के लिए

–  COI और कंपनी का पैन कार्ड

–  डीड और पार्टनर्स के ID प्रूफ और एड्रेस प्रूफ जमा करने पड़ेंगे।

GST पंजीकरण नंबर  :

GST पंजीकरण नंबर एक 15 अंको का आइडेंटिफिकेशन नंबर है जोकि सभी आवेदकों को आवंटित किया जायेगा।  यह नंबर पैन कार्ड नंबर और राज्य के कोड पर आधारित होगा।  पहली दो संख्याएँ राज्य के कोड और दूसरी दस संख्याएँ आवेदक के पैन कार्ड नंबर को दर्शाती हैं।

GST पंजीकरण की फीस  :

GST पंजीकरण या रूपांतरण की प्रक्रिया की कोई भी फीस नहीं है पर आपको आवेदन पत्र पर इलेक्ट्रॉनिक रूप से हस्ताक्षर करने पड़ेगे जिसके लिए आपको आधार कार्ड से जुड़े OTP या क्लास 2 डिजिटल सिग्नेचर की आवश्कयता होगी। डिजिटल सिग्नेचर लेने के लिए आपको लगभग 1000/- रूपये का खर्चा लगेगा।  इसके अलावा अगर आप किसी प्रोफेशनल से GST पंजीकरण करवा रहे हैं तो वह फीस आपके प्रोफेशनल पर निर्भर करती है की वह आपसे कितना चार्ज करेगा।  

2017 में GST पंजीकरण की तारीख :

1 जून 2017 से एक बार फिर से GST पंजीकरण शुरू हुआ है ताकि जिन करदाताओं ने अभी तक GST पंजीकरण  नहीं करवाया है वो GST पंजीकरण  करवा लें।

मैंने इस लेख के माधयम से आपको GST पंजीकरण का तरीका समझने की कोशिश की है।  अगर आपको GST पंजीकरण करना मुशिकल लग रहा है तो आप किसी प्रोफेशनल से भी GST पंजीकरण करवा सकते हैं।